I PLEDGE TO MAKE INDIA SAFE FOR CHILDREN
#MakeIndiaSafe
The Bharat Yatra is a clarion call to Make India Safe for its children. The sexual abuse and exploitation of children has grown to alarming proportions, and must be totally prevented at any cost, before more children lose their childhood to this repulsive and intolerable crime. The trafficking of children involves buying and selling them illegally for the purpose of their exploitation, and unless this crime is controlled, children will continue to lead extremely compromised and unsafe childhoods. Led by Nobel Peace Laureate Mr. Kailash Satyarthi, the Satyarthi Movement and the Kailash Satyarthi Children’s Foundation (KSCF) has set into motion a range of local, regional and global activities to build vast and sustainable support for the world’s largest youth-led mobilisation for all children in need of care and protection. The Bharat Yatra is an effort to mobilise urgent action on these terrible crimes against children.
TRACK YATRA
WHAT CAN YOU DO?
LEND YOUR VOICE
SHARE ON TWITTER
VOLUNTEER
SHARE ON FACEBOOK
DONATE
IN THE MEDIA
FACEBOOK FEED
Kailash Satyarthi Children's Foundation
Kailash Satyarthi Children's Foundation added 4 new photos.5 days ago
Our children from Bal Mitra Gram in Ganj Basoda celebrated #WorldRadioDay by visiting Radio Mann in Vidhisha, MP! Through this platform we hope to amplify the voices of children as they speak about their rights and concerns.
Kailash Satyarthi Children's Foundation
Kailash Satyarthi Children's Foundation updated their cover photo.6 days ago
Kailash Satyarthi Children's Foundation
Kailash Satyarthi Children's Foundation1 week ago
Heartiest congratulations to Director of Programs Bachpan Bachao Andolan and Human Rights Activist, Ms. Sampurna Behura on landmark Supreme Court judgement that mandates implementation of Juvenile Justice Act to its true spirits for the best interest of our children.

The Supreme Court bench comprising of Justice M.B. Lokur and Justice Deepak Gupta, in the verdict of Writ Petition (Civil) No. 473 of 2005 “Sampurna Behura Vs Union of India”, has requested Chief Justices of all High Courts to establish child friendly courts and vulnerable witness courts in each district.

Click link to know more.
Kailash Satyarthi Children's Foundation
Kailash Satyarthi Children's Foundation2 weeks ago
नैनीताल हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस श्री वीके बिष्‍ट ने कहा-‘’केवल जागरुकता ही एक ऐसा माध्‍यम है जो हमारे बच्‍चों को बुरी सामाजिक दशा से निकाल सकती है। मैं मुख्यमंत्री और राज्‍य बाल अधिकार संरक्षण आयोग से अनुरोध करता हूं कि वे बच्चों के लिए अधिक से अधिक बुनियादी ढांचों का निर्माण करें ताकि बच्‍चे अपना बचपन बचा सके और अपना समय सकारात्‍मक गतिविधियों में बिताएं। राज्‍य के लंबित मामलों पर हमारी पैनी नजर है और इस संदर्भ में लगातार हमारा ध्‍यान दिलाने के लिए ‘’बचपन बचाओ आंदोलन’’ के हम शुक्रगुजार हैं।‘’
Kailash Satyarthi Children's Foundation
Kailash Satyarthi Children's Foundation2 weeks ago
उत्तराखंड मुख्‍यमंत्री श्री Trivendra Singh Rawat नेे Bachpan Bachao Andolan , उत्‍राखंड राज्‍य विधिक सेवा प्राधिकरण और उत्तराखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के द्वारा आयोजित कार्यशाला की पहल की सराहना करते हुए कहा “हम अपनी लड़कियों के बारे में चिंतित हैं और उन्‍हें सुरक्षित करने के लिए जितना और जितनी जल्‍दी संभव होगा हम उन्हें सुरक्षित करने की कोशिश करेंगे।राज्य में हर 12 बच्चों पर एक शिक्षक है। हम उत्साही हैं और बच्चों सहित हर किसी की रक्षा करेंगे।"
Kailash Satyarthi Children's Foundation
Kailash Satyarthi Children's Foundation added 2 new photos.2 weeks ago
Bachpan Bachao Andolan , उत्‍राखंड राज्‍य विधिक सेवा प्राधिकरण और उत्तराखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने बच्चों की सुरक्षा पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री Trivendra Singh Rawat और नैनीताल हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस श्री वी के बिष्‍ट की उपस्थित थे।

इस कार्यशाला में अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्तियों में उत्‍राखंड राज्‍य विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री प्रशांत जोशी, उत्तराखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य सचिव विनोद रतूड़ी और सदस्य शारदा त्रिपाठी, सीमा डोरा, वाचस्पति सेमवाल, डॉ. बसंतलाल आर्य और शैलेन्‍द्र शेखर करगेती, पुलिस विभाग से श्री दीपम सेठ (आईजी, लॉ एंड आर्डर) और साथ ही समाज कल्याण विभाग, श्रम विभाग और शिक्षा विभाग के अलावा राज्य के सभी जिलों से बच्‍चों की सुरक्षा से संबंधित पदाधिकारियों की उपस्थिति थी ।
SOCIAL MEDIA FEED

tool-tip error